0
 
जयपुर  --- सामाजिक  क्षेत्र से जुड़े मुद्दों को मीडिया में समुचित महत्व देने के आह्वान के साथ  जयपुर में अखिल भारतीय क्षेत्रीय संपादक सम्मेलन शुरू हुआ। सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री  मेनका गांधी ने कहा कि मीडिया विकास प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण साझीदार है। मीडिया सरकार की नीतियों एवं कार्यक्रमों को आम जन तक पहुंचाता है।

 साथ ही यह कार्यक्रमों के क्रियान्वयन तथा आम जीवन पर पडने वाले उनके प्रभाव की प्रतिक्रिया सरकार तक पहुंचाने का महत्वपूर्ण कार्य करता है, जिससे सरकार की नीतियों को मूर्त रूप देने में सहायता मिलती है।

सामाजिक एवं राष्ट्रीय क्षेत्र के विभिन्न पहलुओं को और अधिक गतिशील बनाने के लिए सरकार द्वारा विगत 20 माह में उठाए गए कदमों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार का एजेंडा तीन प्रमुख सिद्धांतों पर आधारित है। पहला, प्राकृतिक एवं मानव संसाधनों में सुधार लाना। दूसरा, नागरिकों के लिए और अधिक अवसर मुहैया कराना। और तीसरा, आम जनता के जीवन स्तर में सुधार लाना। उन्होंने कहा कि हाल ही में हमने ‘प्रधानमंत्री जन-धन योजना’ के रूप में वित्तीय समावेशन की सबसे बड़ी योजना शुरू की है। 

इसके अंतर्गत विगत 16-17 माह में ही 20 करोड़ बैंक खाते 30 हजार करोड़ रूपए की जमा राशि से खोले जा चुके हैं। ‘मुद्रा’ योजना के तहत 2 करोड़ से अधिक सूक्ष्म एवं लघु उद्यमियों को 85 हजार करोड़ से अधिक का ऋण दिया जा चुका है। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एवं अटल पेंशन योजना के तहत बीमा एवं पेंशन का लाभ साढे़ बारह करोड़ लोगों तक पहुंचा है।

 श्रीमती मेनका गांधी ने कहा कि मंदी के संकेतों के बावजूद हमारे देश ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में उच्च वृद्धि हासिल की है। प्रधानमंत्री की ‘मेक इन इंडिया’ एवं ‘स्टार्ट अप इंडिया’ जैसी योजनाओं से देश में उद्यमशीलता के प्रति उत्साह का वातावरण बना है, विषेशकर युवाओं में।

श्रीमती गांधी ने कहा कि सरकार ने विशिष्ट क्षेत्र में राष्ट्रीय विकास के दीर्घकालिक एवं परिणात्मक लक्ष्य बनाये हैं, जो इस सरकार की एक बड़ी उपलब्धि है। इस सरकार की बड़ी खूबी है कि यह अधिकतम गवर्नेंस पर जोर देती है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हम वैश्विक जगत में विशिष्ट जगह बनाएंगे, जिसके हम हकदार भी हैं।

 राजस्थान सरकार के सामाजिक कल्याण एवं अधिकारिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान जैसी सामाजिक क्षेत्र की बहुत सी योजनाएं शुरू की हैं।

 प्राथमिक शिक्षा के प्रसार के लिए हर पंचायत पर स्कूल खेालने का लक्ष्य रखा है, वहीं स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए महत्वपूर्ण कार्यक्रम शुरू किये गए हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया इन कार्यक्रमों की जानकारी लाभार्थियों तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभा सकता है।

कान्फ्रेंस में भाग लेने आये संपादकों का स्वागत करते हुए पत्र सूचना कार्यालय के महानिदेशक फ्रैंक नरोन्हा ने कहा कि विकास प्रक्रिया में मीडिया समान भागीदार है। सामाजिक क्षेत्र में आम आदमी की सफलता को खबरों में अधिक स्थान दिया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि देश की 70 फीसदी से अधिक आबादी गांवों में निवास करती है, इसलिए क्षेत्रीय एवं भाषायी समाचारपत्रों का महत्व और बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि सरकार के कार्यक्रमों एवं योजनाओं को समाज के अंतिम झोर तक पहुंचने के लिए क्षेत्रीय सम्पादकों का यह सम्मेलन एक महत्वपर्ण प्रयास है। यह नीति निर्माताओं और मीडिया के बीच संवाद बढ़ाने के पीआईबी के प्रयासों का भाग है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top