0
नई दिल्ली : फ्रांस में फेसबुक को मुकदमे का सामना करना पड़ सकता है। एेसा इस लिए हो सकता है क्योंकि फेसबुक द्वारा एक शिक्षक के अकाउंट को नग्न पेंटिंग को पोस्ट करने पर ब्लॉक किया गया था।
 
http://www.alux.com/wp-content/uploads/2015/06/facebook-schimba-din-nou-timeline.jpgशिक्षक ने फेसबुक पर गुस्ताव कोरबेट की 19वीं सदी की पेंटिंग 'द ओरिजिन आफ द वर्ल्ड' पोस्ट की थी। इसमें महिला के यौन अंग को दिखाया गया है। फेसबुक ने शिक्षक का अकाउंट बंद कर दिया था। बदले में शिक्षक ने फेसबुक पर मुकदमा ठोक दिया। शिक्षक ने कहा कि सोशल मीडिया की इस साइट को अश्लील साहित्य और कला का फर्क नहीं मालूम है।
 
पेरिस की एक अदालत ने फेसबुक की यह अपील नहीं मानी कि उसके खिलाफ मामलों को सुनने का अधिकार केवल अमेरिका की अदालतों को है। ध्यान देने योग्य बात है कि फेसबुक ने अपनी कानूनी शाखा 'फेसबुक फ्रांस' को मई 2012 में बंद कर दिया था। उसका आशय यह था कि शिकायतें अब अमेरिका में दर्ज होंगी। इसके आधार पर फेसबुक के वकील ने 22 जनवरी को दलील दी थी कि सोशल साइट फ्रांसीसी अदालतों के अधिकार क्षेत्र में नहीं आती। इसका इस्तेमाल करने वालों ने इस नियम पर दस्तखत किए हैं कि फर्म से संबंधित किसी भी मामले की सुनवाई कैलिफोर्निया की अदालत में होगी जहां यह फर्म स्थित है।
 
शिक्षक के वकील स्टीफन कोतिनेऊ ने कहा, 'यह बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि यह फैसला न केवल फेसबुक बल्कि अन्य सोशल मीडिया नेटवर्क के लिए भी एक ऐसा न्याय अधिकार क्षेत्र सृजित करता है जिनका मुख्यालय विदेश में, खासकर अमेरिका में है। ऐसा करके यह सीधे-सीधे खुद को फ्रांसीसी कानून से बचा रहा है।'
 
फ्रांस की अदालत अब यह फैसला करेगी कि शिक्षक का अकाउंट ब्लॉक कर फेसबुक ने उसकी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उल्लंघन किया है या नहीं।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top