0
नयी दिल्ली --- केन्द्रीय पर्यटन, संस्कृति (स्वतंत्र प्रभार) और नागर विमानन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने  आयोजित एक कार्यक्रम में हिन्दी और अंग्रेजी सहित 12 अंतर्राष्ट्रीय भाषाओं में 24X7 टोल फ्री पर्यटक इन्फोलाइन का शुभारंभ किया, जो मौजूदा टोल फ्री नंबर 1800111363 या एक शार्ट कोड 1363 पर उपलब्ध है। यह परियोजना मैसर्स टाटा बीएसएस के माध्यम से पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा लागू की जा रही है। मैसर्स टाटा बीएसएस खुली बोली प्रक्रिया के बाद इस कार्य से जुड़ी है। 
 
संपर्क केन्द्रों द्वारा हिंदी और अंग्रेजी के अलावा 10 अंतर्राष्ट्रीय भाषाओं- अरबी, फ्रेंच, जर्मन, इटेलियन, जापानी, कोरियाई, चीनी, पुर्तगाली, रूसी और स्पेनिश में जानकारी दी जाएगी। इस अवसर पर जापानी, चीनी, रूसी और इटेलियन भाषाओं में इस बहुभाषीय इन्फोलाइन सेवा का ‘लाइव डेमो’ किया गया। मंत्री महोदय ने यह घोषणा भी की कि जल्दी ही यह मंत्रालय पर्यटकों को बेहतर रूप से सुविधा उपलब्ध कराने के लिए अतुल्य भारत मोबाइल एप की शुरूआत करेगा।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस बहुभाषीय इन्फोलाइन के शुभारंभ से वर्तमान सरकार द्वारा पर्यटकों की सुरक्षा को प्राथमिकता देने के वादे को पूरा किया गया है। इस इन्फोलाइन सेवा से घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों/दर्शकों को देश में यात्रा/पर्यटन से संबंधित सेवा उपलब्ध करायी जाएगी और इसके अलावा भारत में यात्रा करते समय किसी संकट के दौरान की जाने वाली कार्रवाई के बारे में कॉल करने वाले को सहायता प्रदान की जाएगी तथा जरूरत पड़ने पर संबंधित अधिकारियों को भी सचेत किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भारत में यात्रा कर रहे या यात्रा की योजना बना रहे पर्यटक किसी भी परेशानी से मुक्त अनुभव के लिए आवश्यक सहायता और जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि पर्यटकों (घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों) द्वारा देश में यात्रा करते हुए की गई कॉल निःशुल्क होगी। अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों को भारत में और उपरोक्त भाषाएं बोलने वाले अंतर्राष्ट्रीय कॉल करने वाले व्यक्तियों को उस सबंधित भाषा में निपुण एजेंटों से संपर्क करने के लिए निर्देशित किया जाएगा।

पर्यटन सचिव विनोद जुत्सी ने अपने संबोधन में कहा कि हेल्पडेस्क द्वारा पर्यटकों के लिए आईईसी अर्थात सूचना, शिक्षा और संचार पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा और उनकी सुरक्षा और हिफ़ाज़त पर भी पूरा ध्यान दिया जाएगा। अतुल्य भारत की वेबसाइट को भी पर्यटकों के अनुकूल बनाने के लिए पुनर्जीवित किया जा रहा है। पर्यटन मंत्रालय ने देश में आने वाले पर्यटकों/घरेलू पर्यटकों को जानकारी उपलब्ध कराने के लिए पर्यटक इन्फोलाइन की स्थापना की है। 

यह सेवा मुख्य रूप से उन पर्यटकों को जानकारी उपलब्ध कराएगी जो भारत के बारे में या भारत में यात्रा के बारे में बहुत कम जानते हैं और जिन्हें भारतीय प्रणाली तथा अंग्रेजी भाषा भी समझ में नहीं आती है। टाटा बीएसएस के प्रबंध निदेशक और सीओओ  श्रीनिवास कोपोलु ने इन्फोलाइन के कामकाज का ब्यौरा देते हुए बताया कि यह किस प्रकार पर्यटकों के लिए फायदेमंद होगी। डॉ. रविकांत भटनागर, अपर महानिदेशक (पर्यटन) ने इस मूल्यवान इन्फोलाइन जैसी जरूरत पर प्रकाश डालते हुए इसके विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी दी।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top