0
http://kwtv.images.worldnow.com/images/15257705_BG1.jpgनयी दिल्ली -- भारत सरकार ने दो राष्‍ट्रीय प्रौढ़ केन्‍द्र स्‍थापित करने की स्‍वीकृति दे दी है। इनमें से एक की स्‍थापना अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) नई दिल्‍ली में और दूसरे को मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्‍नई में स्‍थापित किया जाएगा।

 इन दोनों केन्‍द्रों की स्‍थापना 12वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान राष्‍ट्रीय प्रौढ़ स्‍वास्‍थ्‍य देख-भाल कार्यक्रम के तृतीय स्‍तर के घटक के अंतर्गत की जाएगी। दोनों ही राष्‍ट्रीय प्रौढ़ केन्‍द्र देश में प्रौढ़ देखभाल के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍टता के केन्‍द्र होंगे।

 इन राष्‍ट्रीय केन्‍द्रों के कार्यकलापों में (1) स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल रक्षण (2) स्‍वास्‍थ्‍य पेशेवरों का प्रशिक्षण (3) 200 बिस्‍तरों वाली रोगी सेवा के साथ अनुसंधान गतिविधियां शामिल होंगी।

इस संदर्भ में आज नई दिल्‍ली के एम्‍स और स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय के बीच एक समझौते ज्ञापन पत्र पर हस्‍ताक्षर किये गये। इस अवसर पर स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण विभाग के सचिव श्री बी.पी. शर्मा, नई दिल्‍ली में एम्‍स के निदेशक डॉ. एम.सी. मिश्र, एम्‍स में प्रौढ़ औषधि विभाग के प्रो. और प्रमुख डॉ. ए.बी. डे भी उपस्थित थे। 

इसके अलावा स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय एवं तमिलनाडु सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण विभाग और चेन्‍नई के मद्रास मेडिकल कॉलेज के बीच भी एक समझौते ज्ञापन पत्र पर हस्‍ताक्षर किये गये। 

तमिलनाडु सरकार की ओर से स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण विभाग तमिलनाडु के विशेष सचिव श्री सेंथल कुमार और मद्रास मेडिकल कॉलेज की ओर से मद्रास मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. आर.विमला ने हस्‍ताक्षर किए। दोनों ही समझौते ज्ञापन पत्र पर भारत सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय की संयुक्‍त सचिव सुश्री धारित्री पंडा के द्वारा भी हस्‍ताक्षर किये गए।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top