0
नई दिल्ली :  देश पर हो रहे आतंकी हमलों में सेना की वर्दी का इस्तेमाल किए जाने के बाद सेना ने आम नागरिकों से 'सेना की वर्दी' से मिलते-जुलते कपड़े न पहनने की अपील की है। साथ ही दुकानदारों से भी अपील की है कि वे नागरिकों को इस तरह के कपड़े न बेचें।

 सेना ने आतंकी हमलों से बचने और आतंकवाद के साथ मुकाबला करने के लिए आम नागरिकों को संबोधित एक ताजा दिशा-निर्देश में यह अपील की है।


http://s2.firstpost.in/wp-content/uploads/2012/06/Dhoni-Army-AFP.jpgअधिकारी ने बताया, 'आम नागरिकों द्वारा ऐसे कपड़े पहनना गैरकानूनी है और इससे गलत संकेत जाता है। 

जो व्यापारी और दुकानदार सेना की वर्दी बेचने में दिलचस्पी रखते हैं, उन्हें स्थानीय सैन्य प्रशासन व अधिकारियों से संपर्क कर सेना की दुकानों व मान्यता प्राप्त जगहों में इन वर्दियों को बेचने की अनुमति मांगनी चाहिए। 

अनधिकृत लोगों को सेना की वर्दी बेचना गैरकानूनी है। यह दिशानिर्देश जनहित में जारी किया गया है और इसका मकसद आतंकी हमलों से सुरक्षा है।'

सेना ने कहा है कि आम नागरिकों द्वारा सेना की वर्दी पहनने से आतंकियों को अपने मंसूबे पूरे करने में मदद मिल सकती है। सेना की वर्दी से लोगों को गलतफहमी हो सकती है और आतंकी-अपराधी इसका बेजा फायदा उठाकर देश को नुकसान पहुंचा सकते हैं।   


सेना के प्रवक्ता ने कहा, 'हम देश के युवाओं से अपील करते हैं कि वे सोशल मीडिया के द्वारा इस विषय में अधिक-से-अधिक लोगों को जागरूक करें। युवा मिलकर सेना की वर्दी-उपकरण के गलत और बेजा इस्तेमाल के खिलाफ एक जन अभियान शुरू करें।'  


सेना के एक अधिकारी ने कहा, 'आम जनता को इस कारण जो असुविधा उठानी पड़ रही है, उसके लिए हमें खेद है, लेकिन लोगों की सुरक्षा व सलामती के लिए हमें ऐसे कदम उठाने की जरूरत है।' सेना ने लोगों से देशहित व जनहित में इन दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की है।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top