0


-प्रेमबाबू शर्मा

अगर देर रात आप दफ्तर से घर आ रहे हैं और आपकी कार रास्ते में खराब हो जाए तो आप ऑन रोड कार सर्विस हेल्पलाइन को फोन करेंगे। 

लेकिन आप शादीशुदा हैं तो पहले बीवी को फोन करेंगे। 

क्योंकि आप जानते हैं कि कार की मरम्मत करवाना आसान है बीवी का गुस्सा झेलना मुशिकल। 

ऐसे ही अनगिनत वाकये और किस्से ​शादीशुदा​ जिंदगी में सुनने और देखने को मिलते हैं इन्हीं किस्सों को बयां करती है फिल्म बेचारे बीवी के मारे। 

एमजी 10 प्रोडक्शन एंटरटेंमेंट प्राइवेट लिमिटेड के बैनर तली बनी इस फिल्म के अभिनेता विक्रांत यादव कहते हैं कि अकसर पत्नियां शिकायत करती हैं कि पति उन्हें प्रताडि़त करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है पति भी पत्नियों से उतने ही पड़ताडि़त हो रहे हैं। 

फिल्म के जरिए हमारी मांग है कि वुमेन सेल की तरह मेल सेल भी बने। यह फिल्म 6 उन जोडि़यों पर फोक्सड हैं जो अपनी अपनी पत्नियों की प्रताड़ना झेल रहे हैं। इस प्रताड़ना में समाज का हर तबका ​शमिल​ है। इस फिल्म के जरिए मेन सेल की भी डिमांड रखी गई है जहां पीढि़त पति ​की शिकायत​ दर्ज करा सके।
 
बेचारे बीवी के मारे फिल्म के जरिए बालीवुड में डेब्यू कर रहे विक्रांत यादव गुड़गांव से ताअल्लुक रखते हैं। वे​ पेशे से वकील हैं लेकिन साथ ही ​प्रोफेशल ​ एक्टर भी। वे एक थियेटर आर्टिस्ट तो हैं ही साथ ही पदमिनी कोल्हापुरे स्कूल और एक्टिंग से अभिनय का ​प्रशिक्षण​ भी हासिल किया है। फिल्म के निर्देशक हैं सोम वत्स। फिल्म का कंसेप्ट और डायलाग पुनीत द्विवेदी ने दिए हैं।

 विक्रांत यादव के अलावा, मनोज ​बक्शी​ और मनीशा चैहान और मोनिका स्वामी अहम भूमिका में हैं। इस फिल्म में कुल पांच गीत हैं, रोमांटिक, आइटम व सैड सांग हैं। रोमांस, रोमांच और कामेडी का ताना बाना लिए यह फिल्म बनकर तैयार है और जल्द ही रिलीज होगी। 

 2 घंटे 15 मिनट की यह फिल्म हिन्दी के अलावा मराठी और भोजपुरी में भी डब कर रिलीज की जाएगी। इस फिल्म की दर्शकों दिल्ली, फरीदाबाद और गुड़गांव में हुई है। खास बात यह फिल्म सेंसरबोर्ड से पास हो चुकी है और इसे यू/ए सर्टिफिकेट मिला है। 

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top