0
नयी दिल्ली --- केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. महेश शर्मा ने  यहां स्वर्गीय लाला लाजपत राय पर 150 रुपये का एक स्मृति सिक्का और 10 रुपये का इस्तेमाल किया जाने वाला सिक्का जारी किया।

 150 रुपये का स्मृति सिक्का मिश्रित चतुर्धातु से निर्मित है और इसका व्यास 44 मिमी और वजन 35 ग्राम है। वहीं 10 रुपये के इस्तेमाल किए जाने वाले सिक्के का वजन 7.71 ग्राम और व्यास 27 मिमी है। यह द्विधात्विक सामग्री (बाई-मेटालिक मैटरियल) से बना है।


संस्कृति मंत्रालय ने नई दिल्ली स्थित नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय (एनएमएमएल) में 13 जनवरी 2016 को लाला लाजपत राय की स्मृति में एक  कार्यक्रम और प्रदर्शनी का आयोजन किया था। वहीं पंजाब सरकार ने लाला जी की जन्मस्थली में एक सभागार के लिए पांच करोड़ रुपये और हॉकी स्टेडियम में एस्ट्रो टर्फ बनाए जाने के लिए तीन करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं।


स्वतंत्रता संग्राम के दिग्गज लाला लाजपत राय की गिनती भारत के सबसे उत्कृष्ट नेताओं में होती है। वह 'पंजाब केसरी' या 'शेरे-ए-पंजाब' के नाम से प्रख्यात थे। 28 जनवरी 1865 को पंजाब के फिरोजपुर जिले के छोटे से गांव ढुढिके में जन्मे लाला लाजपत राय महात्मा गांधी सहित तमाम महान दिग्गजों के समकालीन थे। 


उनकी स्मृति में वर्ष भरे चले समारोहों के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में 501 व्याख्यान आयोजित करने के लिए एक गैर सरकारी संगठन राष्ट्र गौरव संरक्षण परिषद, बेंगलुरू को सरकार की ओर से धन जारी किया गया। 

 स्मरणोत्सव के तहत कर्नाटक में पांच राष्ट्रीय सेमिनार और न्यूयॉर्क में एक अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी को भी मंजूरी दी गई। लाला जी द्वारा स्थापित 'द सरवेंट्स ऑफ द पीपुल सोसायटी' द्वारा उनके सामूहिक कार्यों के 15 संस्करणों का हिंदी में अनुवाद किया जाएगा। लालाजी द्वारा स्थापित पंजाब नेशनल बैंक द्वारा पूरे देश विशेषकर पंजाब में विभिन्न गतिविधियां शुरू की गई हैं।



Post a Comment Blogger Disqus

 
Top