0
गडकरी का दावा, 12 मंजिल चढ़कर पद्मभूषण मांगने के लिए आई थीं आशा पारेखनागपुर : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने पद्म पुरस्कारों को लेकर विवादास्पद बयान दिया। गडकरी ने कहा कि पद्म पुरस्कारों के लिए लोग पीछे पड़ जाते हैं। गडकरी यही नहीं रूके मशहूर अभिनेत्री आशा पारेख पर उन्होंने ऐसा बयान दिया जिससे पुरस्कारों की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हो सकते हैं और एक नया विवाद सिर उठा सकता है।
गडकरी ने कहा कि आशा पारेख पद्म भूषण पाने की उम्मीद में मुंबई में मेरे घर पहुंच गई थी। गडकरी ने कहा कि लिफ्ट खराब थी, फिर भी वे 12 मंजिलें चढ़कर आ गई थीं, बड़ा खराब लगा था। गडकरी ने दावा किया कि आशा पारेख ने उनसे कहा था कि 'मुझे पद्मश्री मिला है, जबकि भारतीय सिनेमा में मेरे योगदान के लिए मुझे पद्मभूषण मिलना चाहिए था।


दरअसल, गडकरी गत शनिवार शाम नागपुर में थे। यहां वह सेवा सदन संस्था की ओर से दिए जाने वाले रमाबाई रानाडे पुरस्कार वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि आए थे। यहीं पुरस्कारों को लेकर मराठी में उन्होंने जो भाषण दिया, उसमें यह विवादास्पद दावा किया। उन्होंने कहा कि पुरस्कारों की वजह से अब सिरदर्द होने लगा है। आपको बता दें कि गुजरे जमाने की मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री आशा पारेख को 1992 में पद्मश्री मिला था। 2002 में उन्हें फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड भी मिला।

Post a Comment Blogger Disqus

 
Top